Live India24x7

Search
Close this search box.

किसान उत्पादक संगठनों की बैठक में समस्या एवं सुझाव पर चर्चा कर आवष्यक निर्देश दिए

धार, ब्यूरो चीफ़ सुनील कुमार विश्वकर्मा

धार, 19 दिसम्बर 2023/ कलेक्टर श्री प्रियंक मिश्रा की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समिति द्वारा किसान उत्पादक संगठन के संचालक एवं सीईओ की समीक्षा बैठक आयोजित कर किसान संगठन की विभिन्न समस्याओ एवं सुझावों पर चर्चा की गई । जिसमें सृजन धारा एफपीओ द्वारा गेहॅू सोयाबीन की विभिन्न किस्मों को खरीदकर राज्य के बाहर विक्रय किये जाने के संबंध में अवगत कराया गया। बैठक में मुख्य रूप से एफपीओ अन्तर्गत जुडे हुए किसान लघुसीमांत वर्ग के होने के कारण शेयरहोल्डर में समस्या आती है एवं एफपीओ को संचालन करने में दिक्कते होती है । इस बावत गठित समिति के सदस्य विशेष करना बार्ड, कृषि, एनआरएलएम के सहयोग एवं जागरूकता हेतु कलेक्टर द्वारा निर्देश दिये गये।

किसान उत्पादक संगठन को उनकी मासिक समीक्षा बैठक में शासकीय मैदानी स्तर के अधिकारी जैसे ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी, पटवारी, ग्रामीण राजगार सहायक भी बैठक में कृषको एफपीओ के लाभ के बारे में बताने हेतु बैठक में उपस्थित रहेगें । जिससे एफपीओ संचालन में सहायता एवं सरलता होगी । कलेक्टर श्री मिश्रा द्वारा विकसित भारत संकल्प यात्रान्तर्गत एफपीओ को भी जोडकर विभाग की विभिन्न योजनाओ के बारे में अवगत कराकर प्रचार-प्रसार करे, जिसमे उन्नत कृषि यंत्र, स्वाईल हेल्थ कार्ड, नैनो यूरिया, नैनो डीएपी को उपयोग ड्रोन के माध्यम से करने हेतु कलेक्टर द्वारा कृषि विज्ञान केन्द्र एवं विभागीय आमले के साथ व्यापक प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिये गये ।

किसान उत्पादक संगठन को सृदृढ बनाने हेतु विभाग कि विभिन्न प्रषिक्षण, मेला, सेमीनार, कार्यक्रमों में एफपीओ के सीबीबीओ डायरेक्टर को आमंत्रित करें जिससे विभाग की गतिविधियांे की जानकारी प्राप्त हो सकें । स्टीवियाअवगंधा, एवं सौफ की उन्नत तकनिकी हेतु पेकेज आफप्रेक्टिस अन्तर्गत लिफलेट पम्पलेटो का वितरण करें एवं मार्केटिंग हेतु एफपीओ का ब्राण्डतेयार कर मूल्य संवर्धन हेतु पैकिंग कर उत्पाद का विक्रय करें। बैठक में अवगत कराया गया कि विकसित भारत संकल्प यात्रा अन्तर्गत पीएम प्रणाम योजना से जैविक खेती/प्राकृतिक खेती हेतु किसानो को जागरूक कर रासायनिक उर्वरक के उपयोग को कम करावें तथा उन क्षेत्रो का चयन करे जहा कि मिट्टी में पोषक तत्वो की कमी है, उनके मृदा स्वास्थ्य परीक्षण जैविक खेती/प्राकृतिक खेती को बढावा देवे ।बॉयोरिर्सोस सेन्टर प्राकृतिक खेती हेतु प्रत्येक विकास खण्ड मे एफपीओ एवं अन्य कृषको को जागरूक कर तैयार करने हेतु कृषि, परियोजना संचालक आत्मा श्री कैलाश मगर एवं एनआरएलएम को निर्देषित किया गया। बैठक में मिलेट मिषन योजना को बढावा देने हेतु मिलेट अन्तर्गत आने वाली फसलों को प्रचार-प्रसार करें। कृषि अधोसंरचना निधि अन्तर्गत इच्छुक एवं आवष्यक किसान उत्पादक संगठन का पंजीयन करावें। एनआरएलएम अन्तर्गत एआईएफ का पंजीयन कराया गया है । बैठक में कृषि, आत्मा, उद्यानिकी, पशुपालन एवं मत्स्य पालन विभागो को केंद्रीय एवं राज्य योजनाओ की षत प्रतिषत पूर्ति करने के निर्देश दिये गये ।

liveindia24x7
Author: liveindia24x7

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज