Live India24x7

Search
Close this search box.

बुन्देलखण्ड गौरव महोत्सव में दिखेगी मिनी खजुराहो की झलक महोत्सव के माध्यम से गौरवशाली इतिहास, सांस्कृतिक विरासत, लोक कला से परिचित हो रहे पर्यटकः जयवीर सिंह

लाइव इंडिया ब्यूरो चीफ संजय कुमार गौतम

लखनऊ : 12 फरवरी, 2024: इतिहास के झरोखे और रोमांच के गलियारों से होते हुए बुंदेलखंड गौरव महोत्सव अब धामों की नगरी चित्रकूट पहुंच गया है। महोत्सव के छठे चरण में पर्यटकों को मराठों द्वारा निर्मित किले, मंदिर, बावड़ी समेत मिनी खजुराहो की झलक देखने को मिलेगी। इसके साथ ही महोत्सव में वॉटर स्पोर्ट्स और हॉट एयर बलून जनता में रोमांच भरेगा और स्वास्थ्य प्रेमियों के लिए योग के विभिन्न सत्र आयोजित किए जाएंगे। 13 से 14 फरवरी को चित्रकूट में आयोजित होने वाले महोत्सव में आमजन को लोक नृत्य, गायन और बैंड परफॉर्मेंस देखने को मिली यह जानकारी आज यहां प्रदेश के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री जयवीर सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि महोत्सव की शुरुआत हॉट एयर बलून से होगी। इसमें शामिल होकर पर्यटक चित्रकूट के विभिन्न दर्शनीय स्थलों को ऊंचाई से देख सकेंगे। यह आयोजन सीआईसी मैदान, कर्वी में होगा। इसके बाद गणेश बाग योग का आयोजन किया जाएगा, जहां स्वास्थ्य प्रेमी प्रशिक्षित योग गुरुओं से विभिन्न योगासन सीख सकेगे। योग के बाद गणेश बाग और मड़फा फोर्ट में हैरिटेज वॉक के तहत जनपद के ऐतिहासिक किलों के बारे में जान सकेंगे। गणेश बाग को मराठों ने खजुराहो मंदिर की शैली में बनवाया है। इसी वजह से इसे मिनी खजुराहो भी कहा जाता है। उन्होंने बताया कि चित्रकूट में अनेक दर्शनीय स्थल भी हैं। इसके अलावा यह स्थल ऐतिहासिक एवं धार्मिक विरासत को संजोये हुए है। बुन्देलखण्ड महोत्सव के आयोजन से चित्रकूट में आये बदलाव एवं राज्य सरकार द्वारा सृजित की गयी बुनियादी सुविधाओं की जानकारी भी प्राप्त होगी और पर्यटकों का आवागमन तेजी से बढ़ेगा पर्यटन मंत्री ने बताया कि महोत्सव में पर्यटकों खासकर युवाओं के लिए वॉटर स्पोर्ट्स का भी प्रबंध किया गया है। इसमें बोट राइड सबसे खास है। यह वॉटर स्पोर्ट्स गुन्ता बांध में आयोजित किए जाएंगे। इसके बाद सीआईसी मैदान, कर्वी में टेथर्ड फ्लाइट्स से लेकर क्षेत्रीय सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इस संध्या कार्यक्रम के पहले दिन बूटी देनी लोगों को कोलाई जनजाति के लोक नृत्य से पहचान कराएंगी। वाराणसी से आईं वगीषा सिंह लोक प्रिय नृत्य प्रस्तुत करेंगी और लखनऊ के दीपक त्रिपाठी लोक प्रिय गायन व स्वाती मिश्रा अपनी परफॉर्मेंस से श्रोताओं को आनंदित करेंगी। महोत्सव के दूसरे दिन झांसी के निशांत भदौरिया राई नृत्य व गायन पेश करेंगे, देवरिया की मोहिनी द्विवेदी गायन, लखनऊ की सुरभि नमामि रामम और मुंबई से आए रोमी बैंड संगीत प्रेमियों को थिरकाएंगे पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह ने बताया कि बुंदेलखंड गौरव महोत्सव के माध्यम से बुंदेलखंड की समृद्ध संस्कृति और विरासत को देश-दुनिया में प्रचारित प्रसारित करने का प्रयास किया जा रहा है। इससे वहां के पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने बताया कि भगवान श्रीराम अपने वनवास काल की अधिकांश अवधि को चित्रकूट में ही बिताया था। इसलिए चित्रकूट का धार्मिक पर्यटन के क्षेत्र में बहुत महत्व है। यहां पर लाखो श्रद्धालु भगवान राम से जुड़े स्थलों को देखने आते हैं और मंदाकिनी नदी में डुबकी लगाकर दर्शन पूजन करते हैं

liveindia24x7
Author: liveindia24x7