Live India24x7

Search
Close this search box.

प्राथमिक विद्यालय संग्रामपुर का भवन जर्जर, बच्चों की जान को खतरा

 

लाइव इंडिया ब्यूरो संजय कुमार गौतम

चित्रकूट: ब्लाक क्षेत्र कर्वी के संग्रामपुर में संचालित परिषदीय प्राथमिक विद्यालय का भवन काफी पुराना होने के साथ ही जर्जर हो चुका है। इसी जर्जर भवन की छत के नीचे बच्चे पढ़ रहे है। इन बच्चों की जान को खतरा बताया जा रहा है। अभी तक बेसिक शिक्षा विभाग ने जर्जर भवन की जगह दूसरा नया भवन नहीं बनवाया है। अभिलेखीय प्रक्रिया सुस्त होने की वजह से बच्चे जर्जर भवन के नीचे बैठकर पढ़ने के लिए मजबूर है।
इस स्कूल में 105 बच्चे पंजीकृत है। नियमित तौर पर खुलने वाले स्कूल में बच्चों की उपस्थिति भी अच्छी रहती है। बुधवार को यहां पर 103 बच्चे स्कूल पहुंचे। बताते हैं कि स्कूल भवन करीब दो दशक से अधिक पुराना है। इसी छत से लेकर दीवारें काफी जर्जर हो चुकी है। बेसिक शिक्षा विभाग की इस जर्जर भवन को ध्वस्त कराकर दूसरा नया भवन बनाने की योजना है। लेकिन अभिलेखीय प्रक्रिया काफी सुस्त होने की वजह से अभी तक कुछ नहीं हो पाया है। जिसके चलते जर्जर भवन के नीचे बैठकर बच्चे जान जोखिम में डालकर पढ़ने के लिए मजबूर है। विद्यालय की प्रधानाध्यापिका पुष्पा पटेल कहती हैं कि भवन के संबंध में उच्चाधिकारियाों को वह अवगत करा चुकी है। दो कमरे अधिक जर्जर है, जिनमें बच्चों को नहीं बैठाते है। इस समय वह दो कमरों में ही स्कूल चला रही है। खंड शिक्षाधिकारी अतुलदत्त तिवारी का कहना है कि स्कूल भवन की हालत ठीक नहीं है। जर्जर होने की वजह से इसका ध्वस्तीकरण कराया जाना है। दो कमरों को कंडम किया जा चुका है। यह दोनो कमरे बंद रहते है। जिनमें बच्चे नहीं बैठाए जाते है। बताया कि ध्वस्तीकरण के लिए नीलामी आदि की प्रक्रिया होनी है। यह प्रक्रिया चल रही है।

liveindia24x7
Author: liveindia24x7

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज