Live India24x7

Search
Close this search box.

सेक्टर अधिकारियों के पास क्षेत्र के सचिव और जीआरएस के संपर्क नम्बर रहे

धार, ब्यूरो चीफ़ सुनील कुमार विश्वकर्मा

सेक्टर पुलिस अधिकारी के साथ अपने क्षेत्र में संयुक्त भ्रमण करें

प्रशिक्षण में कलेक्टर प्रियंक मिश्रा के निर्देश

धार, 15 अप्रैल 2024/  सेक्टर अधिकारी, सेक्टर पुलिस अधिकारी अपने क्षेत्र में संयुक्त भ्रमण करें। सेक्टर अधिकारियों को क्षेत्र की पिछली पोलिंग प्रतिषत की जानकारी रहे।  पलायन पर फोकस कर कार्यवाही करें। लोगों को जागरूक करें। स्वीप की गतिविधियॉ लगातार जारी रखें। पोलिंग स्टेषन की सभी व्यवस्था देख ले। अपने क्षेत्र में सेक्टर अधिकारियों की अच्छी कमांड रहेें। सेक्टर अधिकारियों के पास उनके क्षेत्र के सचिव और जीआरएस के नम्बर रहे।  चुनाव की गंभीरता से आप सभी अवगत है, इसमें गलती की गुंजाईष न रहे। यह बात कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी प्रियंक मिश्रा ने सोमवार को पीजी कॉलेज के ऑडिटोरियम हॉल में आयोजित सेक्टर अधिकारी व सेक्टर पुलिस अधिकारी के प्रशिक्षण में कहीं।

उन्होंने कहा कि निर्वाचन के पहले 72 घंटे की प्रक्रिया बहुत महत्वपूर्ण होती है। सेक्टर अधिकारी व सेक्टर पुलिस अधिकारी निर्वाचन को लेकर अपनी सारी तैयारियों का एक बार रिव्यू कर लेवें। निर्वाचन प्रक्रिया को निष्पक्ष और निर्विघ्न सम्पन्न कराया जाना है। पुलिस सेक्टर अधिकारी की कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी है, कानून व्यवस्था को सुदृढ़ रखें। सभी सेक्टर अधिकारियों के पास उनके क्षेत्र का नक्शा व रूट रहें। अपने क्षेत्र के पोलिंग बुथ का रात्रि में भी भ्रमण करें और वहॉ विद्युत की उचित व्यवस्था देखें। अपने क्षेत्र के एआरओ और माईक्रों आर्ब्जवर के सम्पर्क में भी रहे।

सभी सेक्टर अधिकारी निर्वाचन प्रक्रिया में अपना बेस्ट परफामेंस दे। अपने क्षेत्र में कानून व्यवस्था बनी रहे इसके लिए की गई सभी आवश्यक तैयारियों को देख लेवें। अपने सूचना तंत्र को मजबूत बनाए। पेट्रोलिंग का कार्य लगातार चलता रहे। प्रशिक्षण में  जिला पंचायत सीईओ सविता झानिया, अपर कलेक्टर एवं उप ज़िला निर्वाचन अधिकारी अश्विनी कुमार रावत, सेक्टर अधिकारी व सेक्टर पुलिस अधिकारी मौजूद थे।

प्रशिक्षण में बताया गया कि सेक्टर ऑफिसर का पद निर्वाचन प्रक्रिया में अत्यंत महत्वपूर्ण पद है, सेक्टर अधिकारियों से यह अपेक्षा की जाती है कि उन्हें मतदान केन्द्र तक पहुंच मार्ग, मतदान केन्द्रों का भौतिक सत्यापन, चुनावी प्रबंधन मतदान प्रक्रिया ई.व्ही.एम की व्ही. पेट में त्रुटि, उसकी कार्यप्रणाली, आदर्श आचरण संहिता, कानून व्यवस्था का ज्ञान रहे। सेक्टर ऑफिसर अपने सेक्टर के अधीन समस्त मतदान केन्द्रों में स्वतंत्र निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन सम्पन्न करवाए।

प्रशिक्षण में सेक्टर अधिकारियों के कार्य एवं उत्तरदायित्वों को पी.पी.टी. के माध्यम से विस्तारपूर्वक बताया गया। सेक्टर ऑफिसरों के कार्य जिम्मेदारी निर्वाचन ड्यूटी आदेश मिलने के साथ शुरू हो जाती है और मतदान समाप्ति तक बनी रहती है तब तक कि उनके सेक्टर के अन्तर्गत सभी मतदान केन्द्रों की मतदान सामग्री एवं समस्त प्रपत्र जमा न हो जाये, सेक्टर ऑफिसरों को मतदान के पूर्व मतदान केन्द्र संबंधी कार्य, मतदान सामग्री वितरण दिवस के कार्य मतदान दिवस के एक दिन पूर्व के कार्य और मतदान दिवस के कार्य के बारे में बताया गया। सेक्टर अधिकारियों को वल्नरेबिलिटी मैपिंग एवं क्रिटिकल मतदान केन्द्रों का चिन्हांकन के मापदण्डों के बारे में बताया गया।

liveindia24x7
Author: liveindia24x7