Live India24x7

Search
Close this search box.

पोस्टल बैलेट के मतगणना कर्मियों का प्रशिक्षण अब 27 मई को अरुण गर्ग चीफ ब्यूरो लाइव इंडिया

 सतना 23 मई 2024/भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोकसभा निर्वाचन 2024

के लिये जारी कार्यक्रमानुसार संसदीय क्षेत्र सतना की मतगणना 4 जून को प्रातः 8 बजे से की जायेगी। मतगणना की शुरुआत पोस्टल बैलेट की गणना से होगी। ईटीपीबीएस की काउंटिंग के लिये नियुक्त काउंटिंग सुपरवाइजर टीम का प्रशिक्षण 24 मई के स्थान पर अब 27 मई को प्रातः 11 बजे से संयुक्त कलेक्ट्रेट सतना के ई-दक्ष केंद्र में आयोजित किया जायेगा। अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी स्वप्निल वानखेड़े द्वारा सभी संबंधितों को अनिवार्य रुप से प्रशिक्षण में उपस्थित रहने के निर्देश दिये गये हैं।

—–1

बॉक्सिंग विधा के खिलाड़ियों का प्रतिभा चयन कार्यक्रम आज से

सतना 23 मई 2024/मध्यप्रदेश राज्य बॉक्सिंग अकादमी भोपाल द्वारा वर्श 2024-25 में बॉक्सिंग के खिलाड़ियों का प्रतिभा चयन कार्यक्रम 24 मई से 11 जून तक प्रदेश के अलग-अलग शहरों में आयोजित किया जा रहा है। प्रभारी खेल एवं युवा कल्याण अधिकारी सतना ने बताया कि 24 मई को जबलपुर, 27 मई को ग्वालियर, 5 जून को उज्जैन (बड़नगर), 6 जून को इंदौर एवं 10 और 11 जून को भोपाल में प्रतिभा चयन कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। इस संबंध की अधिक जानकारी के लिये ट्रायल के मुख्य प्रशिक्षक रोशनलाल के मोबाईल नंबर 9893990581 एवं खेल एवं युवा कल्याण कार्यालय सतना से प्राप्त की जा सकती है।

——-2

एग्जिट पोल एवं परिणाम का प्रकाशन या प्रचार एक जून तक पूर्णतः प्रतिबंधित

सतना 23 मई 2024/लोकसभा निर्वाचन 2024 की आदर्श आचार संहिता प्रभावशील है। मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने बताया कि आदर्श आचार संहिता के दौरान एक जून की शाम 6ः30 बजे तक निर्वाचन के संबंध में किसी भी प्रकार के एग्जिट पोल का आयोजन तथा प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में इसके परिणाम का प्रकाशन या प्रचार अथवा किसी भी अन्य तरीके से इसका प्रचार-प्रसार करने पर पूर्णतयाः प्रतिबंधित रहेगा।

भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी अधिसूचना में स्पष्ट किया गया है कि निर्वाचन के दौरान सभी मतदान क्षेत्रों में मतदान की समाप्ति के लिये नियत समय पर समाप्त होने वाले 48 घंटों के दौरान किसी भी इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में किसी भी ओपिनियन पोल या किसी अन्य मतदान सर्वेक्षण के परिणामों सहित किसी भी प्रकार के निर्वाचन संबंधी मामलों के प्रदर्शन पर भी पूर्णतयाः प्रतिबंध रहेगा। लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम-1951 की धारा 126 क में यह प्रावधानित किया गया है कि कोई भी व्यक्ति, कोई निर्गम मत सर्वेक्षण नहीं करेगा और किसी निर्गम मत सर्वेक्षण के परिणाम का ऐसी अवधि के दौरान जो निर्वाचन आयोग द्वारा इस संबंध में अधिसूचित की जाए, प्रिंट या इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के माध्यम से प्रकाशन या प्रचार या किसी भी प्रकार की अन्य रीति से प्रसार भी नहीं करेगा। यदि कोई व्यक्ति इस प्रावधान का उल्लंघन करेगा, तो वह ऐसी अवधि के कारावास से, जो दो वर्ष तक की हो सकेगी या जुर्माने से या दोनों से, दण्डनीय होगा।

——-3

कषकों के लिए अल्पकालीन फसल ऋण की देय की अंतिम तिथि 31 मई

सतना 23 मई 2024/राज्य शासन ने केवल उपार्जन से संबंधित कृषकों के लिए खरीद 2023 सीजन में वितरित किए गए अल्पकालीन फसल ऋण की देय तिथि बढ़ाकर 31 मई 2024 नियत की है। पहले यह तिथि 30 अप्रैल निर्धारित थी।

सरकारी बैंकों के माध्यम से कृषकों को अल्पकालीन ऋण पर ब्याज अनुदान योजना अंतर्गत वर्ष 2023-24 में शून्य प्रतिशत ब्याज दर पर किसानों को अल्पावधि फसल ऋण दिये जाने की योजना निरन्तरता के संबंध में भी निर्देश जारी किये गये हैं। योजनान्तर्गत खरीफ 2023 सीजन में वितरित अल्पकालीन फसल ऋण की देय तिथि (ड्यू डेट) 28 मार्च, 2024 को बढ़ाकर 30 अप्रैल, 2024 करने के आदेश सहकारिता विभाग ने प्रसारित किये हैं।

किसानों को उपार्जित फसल की देय राशि प्राप्त होने में तकनीकी आदि कारणों से विलंब को दृष्टिगत रखते हुए राज्य शासन द्वारा निर्णय लिया गया है कि केवल ऐसे कृषकों जिनके द्वारा निर्धारित ड्यू डेट 30 अप्रैल, 2024 तक समर्थन मूल्य पर अपने विभिन्न फसलों जैसे- गेहूं, चना, मसूर, सरसों आदि का विक्रय किया गया है एवं उन्हें उनके उपज विक्रय की राशि का भुगतान प्राप्त नहीं हुआ है तथा उपार्जन की निर्धारित अंतिम तिथि तक उक्त फसलों का विक्रय करने वाले शेष किसानों के लिए शून्य प्रतिशत ब्याज दर योजनान्तर्गत खरीफ 2023 सीजन की निर्धारित ड्यू डेट 30 अप्रैल, 2024 को बढ़ाकर 31 मई 2024 किया गया है।

———4

किसानों से 31 मई तक होगा चना, मसूर और सरसों का उपार्जन*

सतना 23 मई 2024/जिले के किसानों से रबी विपणन वर्ष 2023-24 में प्राइस सपोर्ट स्कीम के अंतर्गत चना, मसूर एवं सरसों की खरीदी निर्धारित उपार्जन केंद्रों पर की जा रही है। चना, मसूर और सरसों के उपार्जन का कार्य 31 मई तक जारी रहेगा। उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने बताया कि शासन द्वारा चना 5 हजार 440 रुपये प्रति क्विंटल मसूर 6 हजार 425 रुपये प्रति क्विंटल एवं सरसों 5 हजार 650 रुपये प्रति क्विंटल समर्थन मूल्य घोषित किया गया है। शासन के निर्देशानुसार सभी उपार्जन केन्द्रों पर किसानों की सुविधा को देखते हुये शुद्ध पेयजल, छायादार बैठने के स्थान, सुगम परिवहन सुविधा उपलब्ध कराई गई है। उन्होंने किसानों से आग्रह किया है कि वे उपार्जन केन्द्रों या कियोस्क अथवा स्वयं द्वारा अपनी सुविधानुसार स्लॉट बुक कर अपनी उपज का विक्रय शासकीय उपार्जन केन्द्रों पर करें।

——–5

तुअर, उड़द, चना, मूंग, मसूर का पोर्टल में घोशित करना होगा स्टॉक

सतना 23 मई 2024/भारत सरकार द्वारा पांच प्रमुख दालों तुअर, उड़द, चना, मसूर और मूंग की बाजार में सुचारु उपलब्धता तथा स्टॉक की स्थिति पर निगरानी रखने और जमाखोरी को नियंत्रित करने के लिये ऑनलाइन पोर्टल तैयार किया गया है। इस स्टॉक प्रकटीकरण पोर्टल में प्रति शुक्रवार खाद्य व्यापारियों को दालों के स्टॉक की घोशणा करनी होगी। व्यापारियों द्वारा दालों के स्टॉक की जानकारी उपभोक्ता कार्य, खाद्य एवं सार्वजनिक वितरण मंत्रालय की वेबसाइट https://fcainfoweb.nic.in/psp/ पर की जायेगी। कलेक्टर अनुराग वर्मा ने आदेश के पालन में खाद्य सुरक्षा विभाग और कृशि उपज मंडी के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि जिले के समस्त पंजीकृत व्यापारियों से भारत सरकार के पोर्टल में तुअर, उड़द, चना, मसूर और मूंग के स्टॉक की घोशणा नियमित रुप से दर्ज कराना सुनिश्चित करायें।

———-6

ई-उपार्जन पोर्टल के माध्यम से किसान अपनी पसंद की तारीख और उपार्जन केन्द्र में बेंच सकते हैं उपज

सतना 23 मई 2024/शासन द्वारा किसानों की उनकी उपज बेंचने की व्यवस्था को सुगम बनाने के लिये ई-उपार्जन पोर्टल तैयार किया गया है। ई-उपार्जन पोर्टल पर जिले के किसानों को अपनी उपज की बिक्री करने के लिए अपनी पसंद की तारीख, उपार्जन केन्द्र और स्लॉट बुक करने की सुविधा प्राप्त है। इसके लिए ई-उपार्जन पोर्टल के माध्यम से किसान अब स्वयं अपनी उपज बेंचने के लिए दिन, तिथि, उपार्जन केन्द्र और स्लॉट का चयन खुद कर, निर्धारित तिथि पर उपार्जन केंद्र पहुंच कर आसानी से अपनी उपज समर्थन मूल्य पर विक्रय कर सकते हैं। ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत कृषक द्वारा स्वयं के मोबाईल, एम.पी. ऑनलाईन, सी.एस.सी, लोक सेवा केन्द्र, इंटरनेट कैफे, उपार्जन केन्द्र से स्लॉट बुकिंग की जा सकती है। स्लॉट बुकिंग के लिये कृषक के ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत मोबाइल पर ओ.टी.पी प्रेषित की जाती है, जिसे पोर्टल पर दर्ज कराना होता है।

उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने बताया कि मौजूदा समय में जिले के निर्धारित उपार्जन केंद्रों में गेहूं, चना, मसूर, सरसों का उपार्जन कार्य जारी है। शासन द्वारा किसानों के हितार्थ तैयार किये गये ई-उपार्जन पोर्टल की सुविधा का लाभ जिले के किसानों द्वारा अपनी उपज विक्रय के लिये किया जा रहा है। जागरूक किसान भाई अपने द्वारा चयनित दिन और उपार्जन केन्द्र में पहुंच कर अपनी उपज समर्थन मूल्य पर विक्रय कर रहे हैं। किसानों की सहूलियत के नजरिए से जिले में गेहूं, चना, मसूर एवं सरसों के उपार्जन के लिये खरीदी केन्द्र स्थापित किये गये है। 31 मई तक उपार्जन कार्य चालू रहेगा।

——7

मतगणना के संबंध में मीडियाकर्मियों के लिए निर्वाचन आयोग के निर्देश

सतना 23 मई 2024/भारत निर्वाचन आयोग द्वारा मतगणना स्थल पर मीडिया कर्मियों के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए गए है। आयोग के निर्देशानुसार मतगणना कक्ष के भ्रमण के दौरान मोबाइल ले जाना पूर्णतः प्रतिबंधित होगा। मीडियाकर्मी केवल मतगणना स्थल पर बने मीडिया सेंटर तक एक मोबाइल, कैमरा, लैपटॉप, ट्रायपॉड ले जा सकेंगे। मतगणना कक्ष के भ्रमण के दौरान मीडिया के लिए चिन्हित स्थान तक अल्प अवधि के लिए मीडिया कर्मियों को वीडियो कैमरा एवं स्टिल कैमरा ले जाने की अनुमति होगी। मतगणना कक्ष के भ्रमण के दौरान व्यक्तिगत सीयू, वीवीपैट या मतपत्र पर दर्ज किए गए मतदान की तस्वीर खींचना प्रतिबंधित है। मीडियाकर्मी सीमित संख्या के बैच में स्कॉट ऑफिसर्स के साथ ही मतगणना कक्ष का भ्रमण करेंगे। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी पासधारी मीडिया कर्मियों को ही मतगणना स्थल, मतगणना कक्ष में प्रवेश की अनुमति होगी।

———–8

धूप और लू से बचाव की सलाह

सतना 23 मई 2024/गर्मी के मौसम में आमजनों को लू से बचाव की सलाह दी गई है। लू से बचने के लिए जन सामान्य ज्यादा समय तक घर पर ही रहें। दिन में 10 बजे के बाद गर्म हवाओं का प्रकोप हो जाता है। आमजन अतिआवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर निकले। जरूरी होने पर ही घर से बाहर निकलते समय पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं। खाली पेट घर से बाहर न जायें। इससे लू लगने का खतरा बढ़ जाता है। दिन में कम से कम 12 से 15 गिलास पानी जरूर पियें। लू से बचाव के लिए देशी घरेलू उपाय अपनाएं। बाहर निकलते समय सूती कपड़े से चेहरा और सर ढककर रखें तथा पानी साथ में जरूर रखें। पहनने के लिए सूती कपड़ों का अधिक उपयोग करें। लू से बचने के लिए खरबूज, तरबूज, ककड़ी, खीरा, आदि मौसमी फलों का सेवन करें। बेल, सौफ, हरा पुदीना, धनिया आदि के शर्बत तथा छाछ के उपयोग से भी लू से बचाव होता है। अगर लू के लक्षण जैसे मिचली आने, गला सूखने तथा बुखार का प्रकोप होने पर तत्काल चिकित्सक से संपर्क करके उचित उपचार कराए

liveindia24x7
Author: liveindia24x7

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज