Live India24x7

Search
Close this search box.

त्रुटिहीन और पूरी गंभीरता से करें मतगणना कार्य

मतगणना कर्मियों का प्रशिक्षण। अरूण गर्ग चीफ ब्यूरो लाइव इंडिया

सतना 26 मई 2024/लोकसभा निर्वाचन 2024 के मतगणना कार्य में संलग्न गणना पर्यवेक्षक, गणना सहायक तथा माइक्रो प्रेक्षकों को दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम रविवार को जिला पंचायत सतना के सभागार में संपन्न हुआ। प्रशिक्षण कार्यक्रम में सीईओ जिला पंचायत एवं प्रशिक्षण की नोडल अधिकारी संजना जैन ने मतगणना कार्य में संलग्न सभी कार्मिकों से कहा है कि लोकसभा चुनाव की मतगणना का कार्य त्रुटिहीन और पूरी गंभीरता से करें। उन्होने कहा कि चुनाव आयोग की मंशा है कि मतगणना की प्रक्रिया पूरी पारदर्शिता के साथ संपन्न हो। सभी अधिकारी-कर्मचारी पूरी गंभीरता के साथ मतगणना के लिये आवश्यक बारीकियों के बारे में समझ लें। ताकि मतगणना प्रक्रिया निर्विवाद और निर्विघ्न संपन्न हो। इस अवसर पर मास्टर ट्रेनर डॉ बीके गुप्ता, डॉ नवीन कुमार, बीएल बागरी ने मतगणना कर्मियों को विस्तृत प्रशिक्षण दिया।
सीईओ जिला पंचायत ने मतगणना कार्मिकों से उन्होने कहा कि मतगणना का कार्य भी सर्वाधिक महत्वपूर्ण है। इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मतगणना में कंट्रोल यूनिट में दर्ज वोटों की गिनती के साथ डाकमत पत्र, ईटीपीबीएस के अलावा रेंडम आधार पर चयनित वीवीपैट की स्लिपों की भी गणना की जाएगी। गणना की प्रक्रिया को सभी भली-भांति समझ ले। कहीं कोई शंका हो तो उसका निवारण भी कर लें।
सीईओ जिला पंचायत ने कहा कि निर्वाचन का अंतिम पड़ाव मतगणना है और किसी भी चीज का परिणाम महत्वपूर्ण होता है। अतः आयोग द्वारा मतगणना के लिये जारी किये अनुदेशों एवं लागू किये गये नियमों का कड़ाई से पालन करते हुए पूरी गंभीरता के साथ मतगणना का कार्य करें। मतगणना के दौरान मतगणना कार्य में संलग्न सभी अधिकारी-कर्मचारियों को न केवल निष्पक्ष रहना है, बल्कि निष्पक्ष दिखना भी है। उन्होंने सभी अधिकारियों को मतगणना की प्रक्रिया पूरी पारदर्शिता व निष्पक्षता के साथ संपन्न कराने के निर्देश दिए। सीईओ जिला पंचायत ने बताया कि निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार लोकसभा निर्वाचन-2024 की मतगणना 4 जून को सुबह 8 बजे से पोस्टल बैलेट की गिनती के साथ शुरू होगी। सुबह 8ः30 बजे से ईव्हीएम में दर्ज मतों की गणना प्रारंभ होगी।
प्रशिक्षण में सीईओ जिला पंचायत ने मतगणना संबंधी प्रक्रिया को विस्तार से समझाया तथा गणना पर्यवेक्षक व गणना सहायकों की शंकाओं का समाधान भी किया। उन्होने बताया कि पहले डाक मतपत्रों की गणना होगी। डाक मतपत्रों की गणना शुरू होने के तीस मिनट बाद ईवीएम से मतगणना शुरू हो सकेगी। सीईओ जिला पंचायत ने कहा कि वीवीपैट की गिनतियों के समय विधानसभावार अभ्यर्थियों की संख्या के अनुरुप ट्रे के खानों में पर्चियां रखनी हैं और इसके 25-25 के बंडल बनाने हैं। पर्चियां गिनते समय नीचे नहीं गिरने दें, यदि कोई पर्ची जमीन पर गिर गई है तो एजेंटो के संज्ञान में लाकर ही उसे उठायें। उन्होने गणना कक्षों में प्रवेश से लेकर गणना कार्य और कार्य समाप्त होने के बाद बाहर जाने तक की प्रक्रिया की जानकारी दी।
प्रशिक्षण में मास्टर ट्रेनर्स ने भी मतगणना से संबंधित व्यवस्थाओं के अलावा मतगणना संबंधी प्रावधानों व आयोग के दिशा-निर्देशों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी। मास्टर ट्रेनर्स डॉ बीके गुप्ता ने बताया कि गणना टेबल पर ईवीएम की सीयू यूनिट आने पर सबसे पहले टोटल का बटन दबाकर दर्ज मतों को मिलान मतपत्र लेखा 17‘ग’ से करें। मिलाने में कोई विसंगति होने पर तत्काल सहायक रिटर्निंग ऑफिसर को बतायें। उन्होने कहा कि एक चक्र की गणना के बाद 17‘ग’ भाग-2 की प्रविष्टि में राउंड क्रमांक अवश्य डालें। जिससे ईवीएम का सत्यापन प्रमाण पत्र जारी करने में आसानी हो।

डाक मतपत्रों के मतगणना कार्मिकों को दिया गया गणना का प्रशिक्षण
सतना 26 मई 2024/लोकसभा निर्वाचन 2024 की मतगणना 4 जून को की जायेगी। जिसकी शुरुआत डाक मतपत्रों की गणना से होगी। इस संबंध में डाक मतपत्र की गणना करने के लिये तैनात किये गये मतगणना सुपरवाईजर, गणना सहायक एवं माइक्रो आब्जर्वर का प्रशिक्षण रविवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में संपन्न हुआ। प्रशिक्षण में मास्टर ट्रेनर बीएल गुप्ता ने मतगणना की बारीकियों को साझा करते हुये कहा कि लोकसभा निर्वाचन-2024 की मतगणना पोस्टल बैलेट की गिनती के साथ शुरू होगी। इसके बाद सुबह 8ः30 बजे से ईव्हीएम में दर्ज मतों की गणना प्रारंभ होगी। आधे घण्टे बाद दोनों प्रकार के मतों की गिनती समानांतर रूप से की जा सकेगी। केवल उन्हीं डाक मतपत्र की गिनती की कार्यवाही की जावेगी, जो विधि-सम्यक रूप से सही होंगे और निर्धारित समय तक प्राप्त हो चुके हैं। मतगणना प्रारंभ होने के नियत समय बाद डाक मतपत्र का कोई लिफाफा नहीं खोला जावेगा। मास्टर ट्रेनर डॉ गुप्ता ने बताया कि डाक मतपत्रों की गणना के दौरान सबसे पहले प्रारुप 13-सी का बड़ा (बाहरी) लिफाफा खोला जायेगा। इस लिफाफे के अंदर निर्वाचन की घोषणा का निर्धारित प्रपत्र 13-ए और डाक मतपत्र का लिफाफा 13-बी होगा। मतगणना कार्मिकों को बाहरी लिफाफे में अंकित क्रमांक को 13-ए में अंकित क्रमांक से मिलान करना होगा। संख्या का मिलान होने के बाद ही 13-ए के साथ का मतपत्र का लिफाफा 13-बी लिफाफा खोला जायेगा। इसके उपरांत 13-ए की संवीक्षा की जायेगी। जिसमें डाक मतपत्र संख्या, निर्वाचक के हस्ताक्षर और अनुप्रमाणनकर्ता अधिकारी के हस्ताक्षर देखे जायेंगे। किसी भी प्रकार की त्रुटि मिलने पर डाक मतपत्र निरस्त कर सील लगाई जायेगी। डाक मतपत्र में लिफाफा सी में घोषणा पत्र और मतपत्र का लिफाफा 13-सी मिलेंगे। इन दोनो सामग्री में एक ही मिलने पर उसे अस्वीकार कर लिफाफा 13-सी में बंद कर रखेंगे और गिनती में शामिल नहीं किया जायेगा। लिफाफा 13-सी में भेजने वाले के हस्ताक्षर नहीं होंगे, तब भी वह स्वीकार होगा। किंतु घोषणा पत्र में हस्ताक्षर होने आवश्यक होंगे। घोषणा पत्र में हस्ताक्षर नहीं होने, राजपत्रित अधिकारी द्वारा सत्यापन नहीं होने, लिफाफे और मतपत्र के लिफाफे की संख्या अलग होने तथा निर्धारित लिफाफे नहीं होने पर डाक मतपत्र अस्वीकृत किया जायेगा। सभी लिफाफे खोलकर डाक मतपत्र खाने की ट्रे में उल्टे रखे जायेंगे और अभ्यर्थीवार खाने में गिनकर 50-50 मतों के बंडल रखे जायेंगे। मतपत्र में नकली मतपत्र होने, किसी मत का चिन्हांकन नहीं करने, एक से अधिक अभ्यर्थी को मत देने या क्षतिग्रस्त मतपत्र प्राप्त होने अथवा कोई पहचान चिन्ह अंकित होने पर संबंधित मतपत्र को अस्वीकृत कर दिया जायेगा। डाक मतपत्रों की गणना कर निर्धारित प्रारुप में अभ्यर्थीवार मतों को भरकर सुपरवाइजर, सहायक और अभ्यर्थी के गणना एजेंटों के हस्ताक्षर लेकर एआरओ को सीट सौंपी जायेगी। माईक्रो आब्जर्वर पूरी प्रक्रिया का पर्यवेक्षण करेंगे और अपनी रिपोर्ट प्रेक्षक को देंगे। इस अवसर पर डिप्टी कलेक्टर एलआर जांगड़े भी उपस्थित रहे।

ईटीपीबीएस के काउंटिंग सुपरवाइजर टीम का प्रशिक्षण आज
सतना 26 मई 2024/भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोकसभा निर्वाचन 2024 के लिये जारी कार्यक्रमानुसार संसदीय क्षेत्र सतना की मतगणना 4 जून को प्रातः 8 बजे से की जायेगी। इस संबंध में ईटीपीबीएस की काउंटिंग के लिये नियुक्त काउंटिंग सुपरवाइजर टीम का प्रशिक्षण 27 मई को प्रातः 11 बजे से संयुक्त कलेक्ट्रेट सतना के ई-दक्ष केंद्र में आयोजित होगा। उप जिला निर्वाचन अधिकारी स्वप्निल वानखेड़े ने सभी संबंधितों को अनिवार्य रुप से प्रशिक्षण में उपस्थित रहने के निर्देश दिये हैं।

आईटीआई में प्रवेश के लिए इच्छुक अभ्यर्थी 10 जून तक करें आवेदन
सतना 26 मई 2024/कौशल विकास विभाग द्वारा संचालित मध्यप्रदेश की समस्त शासकीय तथा अशासकीय आईटीआई में विभिन्न व्यावसायिक पाठ्यक्रमों में सत्र 2024 में प्रवेश के लिये रजिस्ट्रेशन एवं च्वाईस फिलिंग की प्रक्रिया जारी हैं। आईटीआई संस्था में प्रवेश के लिये पंजीयन एवं चॉइस फिलिंग की तिथि बढ़ा दी गई है। पोर्टल अब 10 जून 2024 तक क्रियाशील रहेगा। शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था के प्राचार्य ने बताया कि आईटीआई में प्रवेश लेने के इच्छुक छात्र-छात्राएं एमपी आईटीआई काउंसलिंग पोर्टल पर नजदीकी एमपी ऑनलाइन कियोस्क सेंटर या स्वयं भी ऑनलाइन प्रकिया द्वारा पंजीयन कर सकते है।

गर्मियों के अवकाश में मध्यान्ह भोजन वितरित नहीं हुआ
एएमएस पोर्टल पर गलत रिपोर्टिंग पर राज्य स्तर से हुई कार्रवाई
सतना 26 मई 2024/एक मई से 15 जून तक गर्मियों की छुट्टियाँ प्रदेश के सरकारी स्कूलों में चल रही है। स्कूलों में कक्षा 8वीं तक शैक्षणिक दिवसों में पीएम पोषण योजनांतर्गत विद्यार्थियों को दोपहर का मध्यान्ह भोजन देने का प्रावधान है। पीएम पोषण शक्ति योजना के राज्य समन्वयक श्री मनोज पुष्प ने बताया है कि ग्रीष्मकालीन छुट्टी में शासकीय विद्यालयों में मध्यान्ह भोजन का वितरण नहीं किया जा रहा है। भारत सरकार के ऑटोमेटेड मॉनीटरिंग सिस्टम (एएमएस) पर मध्यान्ह भोजन वितरण संबंधी त्रुटिवश रिपोर्टिंग करने वाले प्रभारी शिक्षकों को कारण बताओ सूचना पत्र संबंधित जिलों के मुख्य कार्यपालन अधिकारी द्वारा जारी किये गये हैं।
श्री पुष्प ने बताया है कि एक मई 2024 से 15 जून 2024 तक ग्रीष्मकालीन अवकाश होने से स्कूल बंद हैं। पीएम पोषण योजना से इस अवधि में खाद्यान्न आवंटन एवं वित्तीय राशि जारी नहीं की गई है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार का एएमएस पोर्टल केवल एक मॉनीटरिंग एवं रिपोर्टिंग का माध्यम है। एएमएस पोर्टल की रिपोर्टिंग के आधार पर खाद्यान्न एवं भोजन पकाने की लागत राशि जारी नहीं की जाती है।

सायबर क्राइम की घटनाओं को लेकर राज्य सायबर पुलिस द्वारा एडवायजरी जारी
सतना 26 मई 2024/सायबर क्राइम से संबंधित घटनाओं को गंभीरता से लेते हुए आम नागरिकों को मोबाइल के उपयोग से संबंधित सावधानियां बरतने के लिए राज्य सायबर पुलिस मुख्यालय द्वारा एडवाइजरी जारी की गई है। एडवाइजरी में कहा गया है कि किसी भी अनजान नंबर से आए कॉल पर विश्वास न करें, चाहे वह किसी शासकीय संस्था के नाम या शासकीय योजना का फायदा दिलवाने के नाम पर किया गया हो। यदि कोई व्यक्ति आपको या आपके परिवारजनों को अनजान जगह मिलने बुलाता है तो जाने से परहेज करें या अपने साथ किसी समझदार व्यक्ति को लेकर जाएं। ऐसे व्यक्ति जिन पर आपको शक होता है कि वह आपको नुकसान पहुंचा सकते हैं, उनके बारे में अपने परिजनों एवं मित्रों को बता कर रखें। वॉइस चैंजर एप्लीकेशन से तैयार की गई आवाज कई बार बेहद सुरीली व कम्प्यूटराइज्ड होती है। अतः ऐसे किसी कॉल के आने पर ध्यान देवें की कहीं वह आवाज बनावटी तो नहीं है।
एडवाइजरी में कहा गया है कि यदि कोई आपका परिचित बनकर कॉल करता है तो उक्त कॉल को काट कर जिस परिचित के नाम से कॉल की गई है, उसको उनके निजी नम्बर पर कॉल करके सुनिश्चित कर लें कि क्या उसी व्यक्ति के द्वारा आपको कॉल किया गया था। यदि आपके साथ भी कोई सायबर अपराध या इस तरह का अपराध घटित होता है या आपको किसी तरह की सायबर अपराध की जानकारी मिलती है तो उसकी शिकायत अपने नजदीकी पुलिस थाने में या सायबर क्राइम हेल्प टोलफ्री नंबर 1930 पर कॉल करें। इसके अलावा वेबसाईट सायबर क्राइम.जीओव्ही.इन पर विजिट कर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।

liveindia24x7
Author: liveindia24x7

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज