Live India24x7

Search
Close this search box.

विश्व पर्यावरण दिवस पर ग्राम पंचायत चिराखान मे पौधारोपण किया गया धार, ब्यूरो चीप सुनील कुमार विश्वकर्मा बदनावर। ग्राम पंचायत चिराखान अंतर्गत प्रसिद्ध तीर्थ धाम उण्डेश्वर महादेव में माता शबरी मंदिर परिसर मे विश्व पर्यावरण दिवस पर ग्रामिणो ने शबरी धाम परिसर में पौधारोपण किया गया। एवं इनकी सुरक्षा करने का संकल्प लिया। इस अवसर पर सरपंच कालुराम भाभर ने कहा कि विश्व पर्यावरण दिवस प्रतिवर्ष आता है लेकिन इस बार नया यह है कि अब तापमान 52 डिग्री तक पहुंच चुका है और आने वाला समय भयावह होगा इसमें संदेह नहीं है और अब पौधे काटने की ,उनको नष्ट करने की ,जंगल जलाने की ,जंगल काटने की ज़िद बहुत ज्यादा हम सब ने कर ली और जंगल का नुकसान ही नहीं किया ,हमने अपनी आने वाली पीढ़ी के लिए प्राण तत्व को खत्म किया है यह हमको समझना होगा, जब तक हम यह समस्या दूसरों की मानेंगे हम यह सब दुस्साहस करना बंद नहीं करेंगे. जिस दिन हम यह मान लेंगे कि वृक्ष काटना जंगल नष्ट करना प्रकृति को नष्ट करना आने वाली पीढ़ी के लिए ऑक्सीजन और प्राण तत्व का संकट उत्पन्न करना है तो हम लोगों को समझ में आएगा कि हम आने वाली अपनी पीढ़ी के लिए कितना बड़ा नुकसान कर रहे हैं ,तो शायद कुछ बदला होगा। तो चलो साथियों हम सब मिलकर संकल्प लेते हैं वृक्ष लगाने का ,लगे वृक्षों को नहीं काटने की, जिद करते जो पौधे लगा चुके हैं उनको पानी देने की ,जिद करते हैं हम स्वयं भी पौधा लगाने की, ज़िद करते हैं पड़ोसी को भी पौधा लगाने के लिए उसके अंदर भी ज़िद पैदा करते हैं . शायद इससे से कुछ बदलाव अगले कुछ वर्षो में आ सकेगा और आने वाली पीढ़ी के लिए प्राण तत्व का संकट उत्पन्न नहीं होगा।इस अवसर सरपंच कालुराम भाभर, रमेश चौहान, खेमचन्द जायसवाल,मांगिलाल डावर, कैलाश निनामा,सचिव मुकेश निगम, सहायक सचिव पप्पुलाल यादव, नानुराम बैरागी, रामचंद्र गामड़, मांगिलाल चौहान,मोहन भाभर,सहित पर्यावरण प्रेमी उपस्थित थे।

विश्व पर्यावरण दिवस पर ग्राम पंचायत चिराखान मे पौधारोपण किया गया
धार, ब्यूरो चीप सुनील कुमार विश्वकर्मा
बदनावर। ग्राम पंचायत चिराखान अंतर्गत प्रसिद्ध तीर्थ धाम उण्डेश्वर महादेव में माता शबरी मंदिर परिसर मे विश्व पर्यावरण दिवस पर ग्रामिणो ने शबरी धाम परिसर में पौधारोपण किया गया। एवं इनकी सुरक्षा करने का संकल्प लिया। इस अवसर पर सरपंच कालुराम भाभर ने कहा कि विश्व पर्यावरण दिवस प्रतिवर्ष आता है लेकिन इस बार नया यह है कि अब तापमान 52 डिग्री तक पहुंच चुका है और आने वाला समय भयावह होगा इसमें संदेह नहीं है और अब पौधे काटने की ,उनको नष्ट करने की ,जंगल जलाने की ,जंगल काटने की ज़िद बहुत ज्यादा हम सब ने कर ली और जंगल का नुकसान ही नहीं किया ,हमने अपनी आने वाली पीढ़ी के लिए प्राण तत्व को खत्म किया है यह हमको समझना होगा, जब तक हम यह समस्या दूसरों की मानेंगे हम यह सब दुस्साहस करना बंद नहीं करेंगे. जिस दिन हम यह मान लेंगे कि वृक्ष काटना जंगल नष्ट करना प्रकृति को नष्ट करना आने वाली पीढ़ी के लिए ऑक्सीजन और प्राण तत्व का संकट उत्पन्न करना है तो हम लोगों को समझ में आएगा कि हम आने वाली अपनी पीढ़ी के लिए कितना बड़ा नुकसान कर रहे हैं ,तो शायद कुछ बदला होगा। तो चलो साथियों हम सब मिलकर संकल्प लेते हैं वृक्ष लगाने का ,लगे वृक्षों को नहीं काटने की, जिद करते जो पौधे लगा चुके हैं उनको पानी देने की ,जिद करते हैं हम स्वयं भी पौधा लगाने की, ज़िद करते हैं पड़ोसी को भी पौधा लगाने के लिए उसके अंदर भी ज़िद पैदा करते हैं . शायद इससे से कुछ बदलाव अगले कुछ वर्षो में आ सकेगा और आने वाली पीढ़ी के लिए प्राण तत्व का संकट उत्पन्न नहीं होगा।इस अवसर सरपंच कालुराम भाभर, रमेश चौहान, खेमचन्द जायसवाल,मांगिलाल डावर, कैलाश निनामा,सचिव मुकेश निगम, सहायक सचिव पप्पुलाल यादव, नानुराम बैरागी, रामचंद्र गामड़, मांगिलाल चौहान,मोहन भाभर,सहित पर्यावरण प्रेमी उपस्थित थे।विश्व पर्यावरण दिवस पर ग्राम पंचायत चिराखान मे पौधारोपण किया गया
धार, ब्यूरो चीप सुनील कुमार विश्वकर्मा
बदनावर। ग्राम पंचायत चिराखान अंतर्गत प्रसिद्ध तीर्थ धाम उण्डेश्वर महादेव में माता शबरी मंदिर परिसर मे विश्व पर्यावरण दिवस पर ग्रामिणो ने शबरी धाम परिसर में पौधारोपण किया गया। एवं इनकी सुरक्षा करने का संकल्प लिया। इस अवसर पर सरपंच कालुराम भाभर ने कहा कि विश्व पर्यावरण दिवस प्रतिवर्ष आता है लेकिन इस बार नया यह है कि अब तापमान 52 डिग्री तक पहुंच चुका है और आने वाला समय भयावह होगा इसमें संदेह नहीं है और अब पौधे काटने की ,उनको नष्ट करने की ,जंगल जलाने की ,जंगल काटने की ज़िद बहुत ज्यादा हम सब ने कर ली और जंगल का नुकसान ही नहीं किया ,हमने अपनी आने वाली पीढ़ी के लिए प्राण तत्व को खत्म किया है यह हमको समझना होगा, जब तक हम यह समस्या दूसरों की मानेंगे हम यह सब दुस्साहस करना बंद नहीं करेंगे. जिस दिन हम यह मान लेंगे कि वृक्ष काटना जंगल नष्ट करना प्रकृति को नष्ट करना आने वाली पीढ़ी के लिए ऑक्सीजन और प्राण तत्व का संकट उत्पन्न करना है तो हम लोगों को समझ में आएगा कि हम आने वाली अपनी पीढ़ी के लिए कितना बड़ा नुकसान कर रहे हैं ,तो शायद कुछ बदला होगा। तो चलो साथियों हम सब मिलकर संकल्प लेते हैं वृक्ष लगाने का ,लगे वृक्षों को नहीं काटने की, जिद करते जो पौधे लगा चुके हैं उनको पानी देने की ,जिद करते हैं हम स्वयं भी पौधा लगाने की, ज़िद करते हैं पड़ोसी को भी पौधा लगाने के लिए उसके अंदर भी ज़िद पैदा करते हैं . शायद इससे से कुछ बदलाव अगले कुछ वर्षो में आ सकेगा और आने वाली पीढ़ी के लिए प्राण तत्व का संकट उत्पन्न नहीं होगा।इस अवसर सरपंच कालुराम भाभर, रमेश चौहान, खेमचन्द जायसवाल,मांगिलाल डावर, कैलाश निनामा,सचिव मुकेश निगम, सहायक सचिव पप्पुलाल यादव, नानुराम बैरागी, रामचंद्र गामड़, मांगिलाल चौहान,मोहन भाभर,सहित पर्यावरण प्रेमी उपस्थित थे।विश्व पर्यावरण दिवस पर ग्राम पंचायत चिराखान मे पौधारोपण किया गया
धार, ब्यूरो चीप सुनील कुमार विश्वकर्मा
बदनावर। ग्राम पंचायत चिराखान अंतर्गत प्रसिद्ध तीर्थ धाम उण्डेश्वर महादेव में माता शबरी मंदिर परिसर मे विश्व पर्यावरण दिवस पर ग्रामिणो ने शबरी धाम परिसर में पौधारोपण किया गया। एवं इनकी सुरक्षा करने का संकल्प लिया। इस अवसर पर सरपंच कालुराम भाभर ने कहा कि विश्व पर्यावरण दिवस प्रतिवर्ष आता है लेकिन इस बार नया यह है कि अब तापमान 52 डिग्री तक पहुंच चुका है और आने वाला समय भयावह होगा इसमें संदेह नहीं है और अब पौधे काटने की ,उनको नष्ट करने की ,जंगल जलाने की ,जंगल काटने की ज़िद बहुत ज्यादा हम सब ने कर ली और जंगल का नुकसान ही नहीं किया ,हमने अपनी आने वाली पीढ़ी के लिए प्राण तत्व को खत्म किया है यह हमको समझना होगा, जब तक हम यह समस्या दूसरों की मानेंगे हम यह सब दुस्साहस करना बंद नहीं करेंगे. जिस दिन हम यह मान लेंगे कि वृक्ष काटना जंगल नष्ट करना प्रकृति को नष्ट करना आने वाली पीढ़ी के लिए ऑक्सीजन और प्राण तत्व का संकट उत्पन्न करना है तो हम लोगों को समझ में आएगा कि हम आने वाली अपनी पीढ़ी के लिए कितना बड़ा नुकसान कर रहे हैं ,तो शायद कुछ बदला होगा। तो चलो साथियों हम सब मिलकर संकल्प लेते हैं वृक्ष लगाने का ,लगे वृक्षों को नहीं काटने की, जिद करते जो पौधे लगा चुके हैं उनको पानी देने की ,जिद करते हैं हम स्वयं भी पौधा लगाने की, ज़िद करते हैं पड़ोसी को भी पौधा लगाने के लिए उसके अंदर भी ज़िद पैदा करते हैं . शायद इससे से कुछ बदलाव अगले कुछ वर्षो में आ सकेगा और आने वाली पीढ़ी के लिए प्राण तत्व का संकट उत्पन्न नहीं होगा।इस अवसर सरपंच कालुराम भाभर, रमेश चौहान, खेमचन्द जायसवाल,मांगिलाल डावर, कैलाश निनामा,सचिव मुकेश निगम, सहायक सचिव पप्पुलाल यादव, नानुराम बैरागी, रामचंद्र गामड़, मांगिलाल चौहान,मोहन भाभर,सहित पर्यावरण प्रेमी उपस्थित थे।

liveindia24x7
Author: liveindia24x7

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज