Live India24x7

Search
Close this search box.

गैंगरेप पीड़िता के पिता को झूठे केस में फंसाया:परिजन और मोहल्लेवालों ने थाने में मचाया हंगामा, पुलिस से मिलीभगत कर साजिश रचने का आरोप

बिलासपुर में गैंगरेप पीड़ित नाबालिग के पिता पर पुलिस ने छेड़खानी का केस दर्ज कर उसे हिरासत में ले लिया है। इससे नाराज परिजन और मोहल्लेवालों ने थाने का घेराव कर जमकर हंगामा मचाया। उनका आरोप है कि पुलिस से मिलीभगत कर रेप केस वापस लेने आरोपियों ने षड्यंत्र रचा है और महिला को सामने कर रेप पीड़िता के पिता पर छेड़खानी का केस दर्ज किया है। पूरा मामला तोरवा थाना क्षेत्र का है।

जानकारी के अनुसार जनवरी 2022 में 13 साल की बच्ची के साथ चार युवकों ने गैंगरेप किया था। पांचवी कक्षा तक पढ़ी बच्ची पढ़ाई छोड़कर घरेलु काम करती है। वह अपने घरवालों को बताकर मोहल्ले से कुछ दूर सांई मंदिर जाने के लिए निकली थी, जहां पूजा-अर्चना करने के बाद वह अपने घर लौट रही थी। तभी अंधेरे में चार युवक आए और उसे जबरदस्ती रोक लिया। फिर पकड़कर उसे पैदल खेत की तरफ सुनसान जगह में ले गए। इस दौरान 2 युवक रखवाली कर रहे थे और दो युवकों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इस वारदात के बाद सभी आरोपी युवक भाग निकले थे। मामला सामने आने पर पुलिस ने केस दर्ज कर महमंद निवासी सूरज यादव (20 साल), महेश पासी (19 साल), सूरज सूर्यवंशी (21 साल) और दीपक निषाद (27 साल) को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था।

गैंगरेप के सभी चार आरोपियों को पुलिस ने किया था गिरफ्तार।
गैंगरेप के सभी चार आरोपियों को पुलिस ने किया था गिरफ्तार।

घर जाकर दी धमकी, जानलेवा हमला भी किया 
गैंगरेप के केस में आरोपियों के जेल जाने के बाद उसके परिजन और सहयोगियों ने लड़की के घर जाकर परिजनों को धमकी दी थी। इस दौरान उन्होंने परिवार वालों पर हमला भी किया था। इस मामले की शिकायत पर तोरवा पुलिस ने हमलावरों के खिलाफ केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया था।

मुआवजा राशि लेने का भी आरोप
गैंगरेप पीड़ित लड़की के परिजनों ने आरोपी पक्ष के लोगों पर आरोप लगाया है कि शासन के नियमानुसार पीड़ित बच्ची के परिजनों को मुआवजा राशि दी गई थी। इस बीच आरोपी और परिजन जमानत पर छूट गए, तब मुआवजा राशि को भी आरोपी पक्ष के लोगों ने डरा-धमका कर ले लिया और केस वापस लेने की धमकी दी थी।

अब महिला को आगे कर पिता को छेड़छाड़ के केस में फंसाया 
अब इस केस में आरोपियों के सहयोगियों ने एक और षड्यंत्र रचा है। उन्होंने अपने परिचित और रिश्तेदार महिला को आगे कर गैंगरेप पीड़ित बच्ची के पिता पर छेड़छाड़ करने का आरोप लगाते हुए थाने में शिकायत दर्ज करा दी है, जिस पर पुलिस ने पीड़ित बच्ची के पिता को घर में दबिश देकर पकड़कर थाने ले आई।

मोहल्लेवालों ने गैगरेप पीड़ित बच्ची के पिता पर दर्ज केस वापस लेने की मांग।
मोहल्लेवालों ने गैगरेप पीड़ित बच्ची के पिता पर दर्ज केस वापस लेने की मांग।

मोहल्लेवालों के साथ परिजनों ने थाने में मचाया हंगामा 
इधर, गैंगरेप पीड़ित बच्ची के पिता को गिरफ्तार करने की खबर मिलते ही मोहल्लेवासियों के साथ परिजन गुरुवार को तोरवा थाना पहुंच गए, जहां उन्होंने जमकर हंगामा मचाया और पुलिस पर साजिश करने का आरोप लगाने लगे। उनका कहना था कि पुलिस ने तथ्यों की जांच किए बिना ही पीड़ित बच्ची के पिता पर केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है। उन्होंने उसे निर्दोष बताते हुए केस वापस लेने और उसे छोड़ने की मांग की।

टीआई बोले- अब मामले की होगी जांच, झूठा केस होने पर होगी कार्रवाई 
इधर, परिजन और मोहल्लेवालों के हंगामा मचाने के बाद टीआई उत्तम साहू भी हरकत में आ गए हैं। उन्होंने बताया कि महिला ने जिस आरोपी के खिलाफ छेड़छाड़ का केस दर्ज कराया है, वह गैंगरेप पीड़िता के पिता हैं। तब पुलिस को यह पता नहीं था। महिला की शिकायत पर केस दर्ज कर उसे हिरासत में ले लिया है। मामला सामने आने के बाद केस की जांच की जाएगी और अगर झूठा केस दर्ज कराने का मामला सामने आया, तो महिला के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

liveindia24x7
Author: liveindia24x7

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज