Live India24x7

Search
Close this search box.

इंडियन बैंक मैनेजर ने धोखाधड़ी कर हड़पे डेढ़ करोड़:खुद के बैंक अकाउंट में दूसरे के FDR की रकम ट्रांसफर

अजमेर के इंडियन बैंक मैनेजर की ओर से डेढ़ करोड़ रुपए धोखाधड़ी कर हड़पने का मामला सामने आया है। आरोपी ने बैंक की एफडीआर की रकम खुद के अकाउंट में ट्रांसफर की। इस रकम के ट्रांसफर के लिए बैंक के अन्य अधिकारियों की आईडी का दुरुपयोग किया। बैंक की जांच में इसकी बात सामने आई और उदयपुर अंचल के मैनेजर ने कोतवाली थाने में मामला दर्ज कराया। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

इंडियन बैंक के अंचल प्रबन्धक (उदयपुर) सुमन कुमार पुत्र विवेकानन्द प्रसाद सिन्हा ने रिपोर्ट देकर बताया कि इडियन बैंक एक कॉर्पोरेट बैंक होकर बैकिग का व्यवसाय करता है, जिसकी अन्य शाखाओं के साथ-साथ एक शाखा कचहरी रोड़ अजमेर में है। 1 जुलाई 2019 से 11 जुलाई 2022 तक अजमेर कचहरी रोड़ शाखा में वरिष्‍ठ प्रबन्धक के पद सन्दीप कुमार भरीया पिता प्यारेलाल भरिया, निवासी चुड़िमिया-लक्ष्मणगढ, जिला सीकर नियुक्त थे। बैंक की शाखा द्वारा मोटर एक्सीडेन्ट क्लेम ट्रिब्यूनल अजमेर के नाम की एक करोड़ पच्चास लाख सात हजार एक सो अट्ठारह रुपए की एफडीआर बनाई गई थी।

गत 2 मार्च 2023 को इनमें से एक एफडीआर की राशि प्राप्त किए जाने के लिए मूल एफडीआर बैंक को प्राप्त हुई। इसमें से 45 लाख 12 हजार 116 रुपए तत्कालीन शाखा प्रबन्धक सन्दीप कुमार भरीया द्वारा बिना मूल एफडीआर के 22 जून 2020 को अपने निजी एचडीएफसी बैंक खाते में ट्रान्सफर कर लिए। 6 लाख 63 हजार 847 रुपए 2 अगस्त 2021 अपने इसी खाते में ट्रान्सफर कर लिए। अन्य राशि का भी ट्रान्सफर अपने निजी आईसीआईसीआई बैक व बड़ोदा राजस्थान क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के अपने निजी खाते में टांसफर किए।

इस प्रकार एक करोड़ पच्चास लाख सात हजार एक सो अट्ठारह रुपए ट्रांसफर किए। बैक के अधिकारियों को जांच के दौरान पता चला कि सन्दीप कुमार भरीया ने बैंक में तत्कालीन कार्यरत शैलेन्द्रसिंह व संगीता , राहुल सोनी की आईडी का भी फर्जी तरीके से दुरूपयोग करते हुए यह राशि अपने निजी खातों में ट्रान्सफर की। जिसका कोई अधिकार नही था। सन्दीप कुमार भरीया द्वारा बैंक एंव बैक के अन्य अधिकारियों के साथ धोखाधड़ी एवं जालसाजीपुर्वक राशि को अपने खातें में ट्रान्सफर किया। कोतवाली थाना पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

बैंक में नकली सोना देकर लिया 2 करोड़ का लोन:एक नहीं 8 लोगों के गोल्ड लोन में घपला, गोल्ड वैल्युअर की भूमिका घेरे में

अजमेर के बैंक ऑफ इंडिया में गोल्ड लोन के नाम पर बड़ा फर्जीवाड़ा सामने आया है। यहां नकली सोना गिरवी रखकर कईं लोगों ने करीब 2 करोड़ रुपए का लोन ले लिया गया। घटना अजय नगर स्थित ब्रांच की है। आखिर बैंक की जांच में सोना नकली निकला। इसके बाद बैंक में रखे हर गहने की जांच की गई। इस दौरान अलग-अलग लोगों से मिला करीब 2 करोड़ का सोना नकली निकला है। घटना का पता चलते ही बैंक मैनेजमेंट ने गोल्ड की जांच कर कीमत बताने वाले को हटा दिया। फिर अपने स्तर पर जांच शुरू कर दी है। अब तक पुलिस में भी मामला दर्ज नहीं करवाया गया है।

liveindia24x7
Author: liveindia24x7

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज