Live India24x7

Search
Close this search box.

भगवान ने किया विहार, बजे घंटे- घडिय़ाल, झुलाया झूला

धार, ब्यूरो चीफ सुनील कुमार विश्वकर्मा

चिराखान। गाव सहित क्षेत्र भर में सोमवार को देवझूलनी एकादशी (डोल ग्यारस) आस्था व उल्लास से मनाई गई। इस अवसर पर बड़ी संख्या में ग्रामीणजनों ने मंदिरों से गाजे-बाजे व ढोल-ढमाकों के साथ डोल (विमान) निकाले। जुलूस में घंटे-घडिय़ालों के बीच भगवान के जयकारे गूंज रहे थे। फूलों व अन्य सामग्रियों से सजे डोल जलस्त्रोतों पर पहुंचे। यहां भगवान को स्नान कराकर पुन: मंदिरों में लाए गए। मंदिरों में आरती कर भगवान को विराजित किया गया। बाद में प्रसादी वितरित की गई। भगवान को झूले में झुलाया गया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में धर्मालुजन शामिल हुए। ढोल-ढमाकों के साथ चल समारोह शहर के प्रमुख मार्गो से होकर निकला।ग्रामिणो ने अपने अपने घरो पर देव विमान में विराजे देवताओं की पूजा-अर्चना की। इस अवसर पर धर्मालुजन भजन-कीर्तन करते चल रहे थे। चल समारोह प्रमुख मार्गो से होता हुआ बाबा रामदेव मंदिर में पहुंचा। यहां आरती व प्रसादी के बाद भगवान को रात्रि विश्राम के लिए ठहराए गए देवताओं के समक्ष लोगो ने भजन-कीर्तन किया। इस अवसर पर कन्हैयालाल जायसवाल, चम्पालाल पाटीदार, शंकरलाल पाटीदार, हरिनारायण जायसवाल, भगवतीप्रसाद जायसवाल, निलेश जायसवाल, परमानंद पाटीदार, हरिनारायण पाटीदार,गोविन्द मुकाती,कैलाशचन्द्र जायसवाल, दिलीप जायसवाल,कृष्णा जायसवाल,बनवरी शर्मा,रमेश चौहान, कालुराम चौहान सहित ग्रामीणज उपस्थित थे।

“फोटो संलग्न”

liveindia24x7
Author: liveindia24x7

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज