Live India24x7

Search
Close this search box.

खरीदी केंद्रों में पहचान रखने वाले ,किसानो के साथ धोकाधाडी कर फर्जी तरीके से करा रहे पंजीयन

जवेरा दमोह

दमोह जिले के जवेरा और तेंदूखेड़ा क्षेत्र में इन दिनों धान की फसल का पंजीयन प्रक्रिया चल रही है जिसमे ग्रामीणों अंचलों के अनेक किसानो के साथ अन्य लोगो के द्वारा किसानों के साथ धोका धाडी द्वारा धान का पंजीयन कराने के मामले सामने आ रहे है । किसान को पता ही नही चलता और खरीदी केंद्रों में पहचान रखने वाले लोगो के द्वारा आपरेटरो ओर समिति प्रबंधकों की मिली भगत से फर्जी तरीके से पंजीयन किया जा रहा है।ओर किसानो के नाम पर फायदा उठाया जा रहा है।
ऐसा ही मामला जवेरा थाना क्षेत्र में सामने आया है । जहां 6किसानो की करीब 21एकड़ जमीन पर अन्य लोगो के द्वारा धान का बगैर किसानो को बताए पंजीयन कराया गया है।
जवेरा जनपद पंचायत के उपाध्यक्ष प्रतिनिधि डॉक्टर सुजान सिंह ने बताया कि मुझे जानकारी लगी की ग्राम ककरेटा के कुछ किसानो के साथ फर्जी तरीके से धान के पंजीयन अन्य लोगो के द्वारा कराएं गए है । ग्राम ककरेटा के किसान गुड्डा आदिवासी सहित करीब 6 किसानो की जमीन का कुल रखवा 8.52 हेक्टर अर्थात 21 एकड़ लगभग जमीन का बिना जानकारी दिए ही फर्जी तरीके से सिंग्ररामपुर निवासी एक अन्य व्यक्ति के द्वारा लरगवा समिति तहसील तेंदूखेड़ा के ग्राम लरगवा के आपरेटर घनश्याम यादव के साथ मिलकर धोखाधड़ी के द्वारा फर्जी पंजीयन करवा दिए है। किसानो के साथ धोखा देकर धान खरीदी में अन्य लोगो के द्वारा मुनाफा कमाया जा रहा है। जिसकी जांच के लिए ग्राम ककरेटा निवासी किसान गुड्डा आदिवासी ने थाना प्रभारी जवेरा को आवेदन देकर जांच कर दोषियों पर कार्यवाही करने के लिए गुहार लगाई है। डॉक्टर सुजान सिंह ने बताया कि मेरे द्वारा यह जानकारी किसानों को दी गई कि आपका फर्जी तरीके से पंजीयन हो गया है। जिसके बाद किसानो के द्वारा जवेरा थाना में आवेदन देते हुए कार्यवाही की माग की गई।

liveindia24x7
Author: liveindia24x7

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज