Live India24x7

Search
Close this search box.

माफियाओं का गढ़ बना भालूमाडा थाना क्षेत्र, थाना प्रभारी की निष्क्रियता के चलते पनप रहे माफिया

लाइव इण्डिया भालूमाड़ा

 

रेत, जुआ, सट्टा, चोरी, गांजा, शराब सहित कई अपराध में संयुक्त माफिया

इंट्रो -देशभक्ति जन सेवा के लिए पुलिस होती है लेकिन जब पुलिस माफियाओं के साथ हाथ मिला बैठे और क्षेत्र में तरह-तरह की अपराध बढ़ने लगे तो फिर इसे आप क्या कहेंगे ?इन दिनों कुछ ऐसा ही हाल अनूपपुर जिले के भालूमाड़ा थाना क्षेत्र का है जहां पर थाना प्रभारी एवं पुलिस की मिली भगत से क्षेत्र में तरह-तरह के अपराध एवं माफिया पनप रहे हैं ऐसा नहीं कि इसकी जानकारी थाना प्रभारी सहित पुलिस को ना हो लेकिन पुलिस कार्रवाई करने में परहेज क्यों वरत रही समझ से परे हैं ! हालांकि जिले में बैठे पुलिस अधीक्षक को इस और ध्यान देना चाहिए जिससे क्षेत्र में अपराध कम हो सके !

अनूपपुर-भालूमाडा थाना क्षेत्र में ऐसा कोई अपराध न हो जो आज ना हो रहा हो यहां पर जुआ, सट्टा ,रेत चोरी ,कबाड़, कोयला चोरी, शराब की तस्करी सहित अनेको अवैध कार्य है जो क्षेत्र पर चरम सीमा पर है !समय-समय पर मीडिया खबर प्रकाशित कर पुलिस को जगाने का काम करती है लेकिन पुलिस भी कुंभकर्णी नींद में सोई हुई है !माफियाओं के साथ हाथ मिला बैठी है माफिया क्षेत्र में आतंक मचाए हुए हैं लोग अपने आप को असुरक्षित सुरक्षित महसूस कर रहे हैं लगातार चोरी की घटनाएं क्षेत्र में बढ़ रही है !इसके बावजूद थाने की मुख्य कुर्सी में बैठे आर धारिया साहब सब कुछ अपनी आंखों से देख मुस्कुरा रहे हैं अपराधियों को पकड़ने में थाना प्रभारी एवं थाने का स्टाफ नाकाम साबित हो रहा है समय-समय पर स्थानीय जनप्रतिनिधि भी ज्ञापन सौंप माफिया की विरुद्ध कार्रवाई करने को लेकर मांग करती है लेकिन बाह रे पुलिस अपने फायदे के लिए माफिया को संरक्षण देने में बाज नहीं आ रही !

बक्तार और जालिम सजा रहें जुआ के फड 

भालूमाडा में बक्तार तो जमुना में जालिम द्वारा जुआ के फड का संचालन किया जा रहा है, जुआ के फड़ में ब्याज में पैसे का लेनदेन, युवाओं को जुआ की तरफ धकेलना, उसके साथ शराब तथा कबाब को परोसने का कार्य थाना अंतर्गत किया जा रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बक्तार और अन्य साथियों के द्वारा प्रत्येक दिन जुआ के फड का संचालन किया जाता है बड़ी तादाद में युवाओं को बुलाकर जुआ का खेल खेला जाता है और उसे नाल की वसूली की जाती है, वहीं जालिम नामक शख्स जमुना में जुआ का सरगना बना हुआ है जो खाकी वर्दी से मैनेजमेंट कर अपने अपराधिक कार्यों को अंजाम देने का कार्य कर रहा है। इन सब के बीच थाना प्रभारी थाना में आराम फरमाते हुए उक्त लोगों पर कार्यवाही करने से बच रहे हैं। सूचना देने के उपरांत भी किसी प्रकार की कार्यवाही भालूमाडा थाना अंतर्गत नहीं हो रही है। 

रमेश, सुरेश, छोटू और ओपी कर रहे रेत की चोरी

नदियों का सीन छल्ली कर अवैध रेत का परिवहन थाना अंतर्गत पड़ी मात्रा में किया जा रहा है आधा दर्जन से ज्यादा घाटों पर रमेश सुरेश छोटू और ओपी नामक व्यक्तियों द्वारा बड़ी मात्रा में रेत के अवैध परिवहन को अंजाम दिया जा रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इनमें से कुछ रेत माफिया या रेत चोर थाना प्रभारी से सीधा संपर्क में आने के कारण अपना कार्य बेखौफ होकर कर रहे हैं। थाना प्रभारी के कॉल डिटेल्स को खंगाल जाए तो रमेश और सुरेश नामक व्यक्ति के अधिकांश समय की बातचीत से पूरे मामले का खुलासा हो सकता है। छोटू और ओपी क्षेत्र में लगातार रेत का अवैध उत्खनन और परिवहन कर रहे हैं जिस पर बीट प्रभारी भी चुप्पी साधे बैठा हुआ है। ब्याज के मामले में पुलिस के गिरफ्त में आया हुआ सुरेश अब रेत के अवैध उत्पादन और परिवहन में अपना हाथ साफ कर रहा है देखना यह है कि क्या पुलिस किसी प्रकार की कार्यवाही इन पर करती है या फिर पुराने ढुलमोल रवैया से भालूमाडा थाना अपराधों से गुलजार होता रहेगा।

इनका कहना है

क्षेत्र में बढ़े अपराधों के संबंध में जब हमने थाना प्रभारी से बात की तो इन्होंने कहा कि अभी हम कुछ नहीं कहेंगे क्योंकि हम अमरकंटक ड्यूटी में है !

liveindia24x7
Author: liveindia24x7

यह भी पढ़ें

टॉप स्टोरीज